शिलाजीत के आश्चर्यजनक फायदे| | पहचान | इस्तेमाल का सही तरीका

फ्रेंड्स क्या आपने कभी सोचा है की अगर महिलाये और बच्चे शिलाजीत का सेवन कर ले तो इससे उनके स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ेगा | आपका भी और लोगो की तरह यही मानना होगा की शिलाजीत का सेवन पुरुष अपनी यौन  शक्ति को बढ़ाने के लिए करते है, और इसका सेवन महिलाओ और बच्चो  को नहीं करना चाहिए | लेकिन  आपका यह ज्ञान अधूरा है और आज की इस पोस्ट में शिलाजीत को लेकर बनाई  धारणाओं को तोड़ देंगे साथ ही जानेगे शिलाजीत के अद्भुत फायदे और इसके उपयोग करने के सही तरिके के बारे में | साथ ही असली शिलाजीत की क्या पहचान है ये भी हम आज आपको बताएंगे | 

प्राचीन काल से उपयोग हो रहा है शिलाजीत का 

हमारे देश में पुराने समय से ही बड़ी से बड़ी बीमारी और असाध्य रोगो को प्राकृतक जड़ी बूटियों के द्वारा  ठीक किया जाता  रहा है | हमारे ऋषि महर्षियो ने रोगो पर रिसर्च करके इन जड़ी बूटियों के इस्तेमाल का  सही तरीका आयुर्वेद में बताया गया है | इन सभी जड़ी बूटियों में से एक जड़ी बूटी ऐसी है जिसका सबसे चमत्कारिक प्रभाव देखने को मिलता है| जिसका नाम है शिलाजीत | शिलाजीत का नाम आते ही  ज्यादातर लोगो के दिमाग में आता है की यह पुरुषो की यौनशक्ति और ताकत बढ़ाने वाली जड़ी बूटी है | आपका यह सोचना सही है लेकिन यह शिलाजीत का केवल एक फायदा है जो आप लोगो को पता है | दरअसल शिलाजीत में कुछ ऐसे पोषक तत्व पाए जाते है जिनसे उन बीमारियों को भी पूरी तरह ठीक किया जा सकता है जिनका आज के समय में मेडिकल साइंस में भी  कोई इलाज नहीं है | 

महिलाये, जवान और बूढ़े हर  कोई कर सकता है सेवन 

शिलाजीत के बारे में कहा जाता है की इसके सेवन से बूढ़े लोगो में भी जवानी आ जाती है | शिलाजीत में 85 तरह के नूट्रिएंट होते है जिसके कारन इसमें एनर्जी और ताकत बढ़ाने की अद्भुत क्षमता होती है | अगर आप सभी तरह के हेल्थ टॉनिक लेकर कोई फायदा महसूस नहीं कर पा रहे है तो आप शिलाजीत का सेवन करें | यह किसी भी हेल्थ टॉनिक से कई गुना अधिक आपके शरीर के लिए फायदेमंद  होगा  | साथ ही ऐसा भी नहीं है की इसका इस्तेमाल केवल पुरुष कर सकते है | बल्कि बच्चो से लेकर महिलाये और बूढ़े लोग तक हर कोई  इसका सेवन कर सकता है और इसके चमत्कारिक लाभों को प्राप्त कर सकता है  | 

किन किन बीमारियों में है बेहद उपयोगी 

शिलाजीत को पहाड़ो का पसीना कहा जाता है | यह हिमालय , गिलगित और बाल्टिस्तान की पहाड़ियों में पाया जाने वाला गहरे भूरे और काले  रंग का एक लिसलिसा पदार्थ होता है | गर्मियों के मौसम में सूर्य की गर्मी से जब पहाड़ का धातु पिघल कर रिसने लगता है यह पदार्थ शिलाजीत होता है | शिलाजीत में फुलविक एसिड पाया जाता है जो हमारी ताकत बढ़ाने वाला और कई रोगो को दूर करने वाला होता है | 

फुलविक एसिड हमारे सेल्युलर मेमरेंस के द्वारा आसानी से निकल जाता है जिसके कारन इसका हमारे शरीर पर प्रभाव बहुत तेजी से होता है | जिन भी लोगो को आलस या थकान की शिकायत रहती है उन्हें शिलाजीत का सेवन करना चाहिए | इसके अलावा मोटापे , एनीमिया ,सोराइसिस, एक्जिमा, दाग , अल्जाइमर जैसी बीमारियों भी इसके सेवन से तेजी से ठीक होने लगती है | 

अलग अलग उम्र के लोगो को शिलाजीत का सेवन किस तरह करना चाहिए इसे कितनी मात्रा में और किस समय खाना चाहिए अलग अलग बीमारियों तथा महिलाओ  और पुरुषो की सेहत  से जुडी किन किन समस्याओं को शिलाजीत की मदद से पूरी तरह ठीक किया जा सकता है|  आज की इस पोस्ट  में हम इन सभी बातो पर चर्चा करेंगे | लेकिन इससे पहले हम यह जानेंगे की शिलाजीत बनाया कैसे जाता है | इसमें क्या क्या होता है और इसका सेवन हमारे लिए कितना सुरक्षित है | 

कैसे बनता है शिलाजीत 

जिस तरह  पेड़ो से हमें गोंद प्राप्त होता है उसी तरह शिलाजीत पहाड़ो से निकलने वाला एक तरह का गोंद या टार है | इसके अंदर पहाड़ो की चट्टानों और पेड़ पौधों में पाए जाने वाले प्राकृतिक खनिज लवण पाए जाते है | यह खासकर तिब्बत और हिमालय की  चट्टानों में ज्यादा मात्रा में पाया जाता है | चट्टानों से प्राकृतक शिलाजीत निकालने के बाद इसकी सारी  गंदगी को फ़िल्टर करके  निकाल दिया जाता है | और फिर इसे इसी तरह कच्चा और जड़ी बूटियों के साथ मिलाकर पैक करके बाजार में बेचा जाता है | 

हिमालय की ऊंचाइयों पर पर्वतो से निकलने वाला शिलाजीत ही सबसे असरदार माना जाता है | आयुर्वेद के हिसाब से हमारे शरीर में 7 अलग अलग तरह के धातु पाए जाते है | रस, रक्त, मांस, मेद, अस्थि, मज्जा, और शुक्र शिलाजीत एक मात्र ऐसी चीज है जिनका इन सभी तरह की धातुओं पर तेजी से असर होता है | आइये जानते है शिलाजीत से जुड़े कुछ अद्भुत फायदों और इसके इस्तेमाल के  सही तरीकों  के बारे में |  

शिलाजीत के इस्तेमाल का सही तरीका 

बाजार में शिलाजीत 3 अलग अलग रूप में मिलता है |  liqvid, सॉलिड और कैप्सूल | केप्सूल का इस्तेमाल ना करे, क्युकी इसमें यह पावडर के रूप में  होता है और साथ ही इसमें मिलावट होने की सम्भावना भी ज्यादा होती है | कोशिश  करें की  गाढ़े लिक्विड  के  रूप में मिलने वाले शीलजीत का ही इस्तेमाल करें | एक एडल्ट व्यक्ति एक बार में 150 से 250 ml  शिलाजीत का सेवन कर सकता है | और इसे एक दिन में करीबन 600 mg  से ज्यादा नहीं लेना चाहिए | 

लिक्विड का सेवन करने के लिए एक चम्मच के उलटे हिस्से को आधा इंच गहराई तक शिलाजीत के लिक्विड में डूबा कर बाहर निकाल ले | जितना शिलाजीत चम्मच पर चिपक जायेगा उतना शीलाजीत  एक बार के इस्तेमाल के लिए काफी होता है | इसे गुनगुने पानी या दूध के साथ मिलाकर पीया जा सकता है | 

सॉलिड शिलाजीत का सेवन करने के लिए इसका चाकू या चम्मच की सहायता से थोड़ा हिस्सा काटकर चावल से थोड़े से बड़े आकार की गोली बना ले | शिलाजीत को फ्रिज में ना रखें | क्युकी फ्रिज में यह जमकर सख्त हो जाता है |  और फिर इसका इस्तेमाल करना मुश्किल बन जाता है | शिलाजीत की तैयार इस गोली का पानी या दूध के साथ निगलकर भी सेवन किया जा सकता है | या फिर दूध या पानी में घोलकर भी पिया जा सकता है | 

सख्त होने के बावजूद भी यह पानी में आसानी से घुल जाता है | इसका सेवन दिन में आधे घंटे नाश्ते से पहले करना सबसे बेहतर माना जाता है | क्युकी खाने के बाद  भोजन के साथ मिल जाने पर इसका असर कम हो जाता है | इसलिए हमेशा इसका खाने से पहले ही सेवन कर ले | 

यदि आप शराब पिते है तो इस बात का ध्यान रखे 

अगर आप शराब पीते  है, तो शराब पिने के क़म से कम 3 घंटे बाद या 3 घंटे पहले शिलाजीत का सेवन करें | और 18 साल से कम उम्र के बच्चो को शिलाजीत देते समय उसकी मात्रा को आधी कर देना चाहिए | शिलाजीत का सेवन साफ़ और उबले पानी के साथ करना चाहिए | 

किन किन लोगो को शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए 

ये तो आप जान ही चुके है की शिलाजीत का सेवन कैसे और कितना करना चाहिए | अब जानते है की शिलाजीत का सेवन कीन्हे नहीं करना चाहिए | जिन लोगो को गंभीर दिल की बीमारी या हाई ब्लड प्रेशर है उन लोगो का इसे  सेवन नहीं करना चाहिए | साथ ही 12 साल से कम उम्र के बच्चो और गर्भवती महिलाओ को भी शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए | 

जो लोग हार्मोन्स को बढ़ाने या घटाने की दवाई ले रहे हो उन्हें भी शिलाजीत का सेवन नहीं करना चाहिए | बुखार और इन्फेक्शन के समय भी शिलाजित का सेवन वर्जित माना गया है | शिलाजीत गर्म होता है इसलिए कोसिस करे की सर्दियों के मौसम में ही इसका सेवन करें | 

शिलाजीत एक पावरफुल औषधि है, इसलिए इसका 3 महीने से ज्यादा इस्तेमाल ना करें | 3 महीने के बाद 1 महीने का ब्रेक लेकर इसका दुबारा इस्तेमाल किया जा सकता है | यह आपको किसी भी आयुर्वेदिक स्टोर या पंसारी की दुकान पर आसानी से मिल जायगा | और अगर आप चाहे तो इसे ऑनलाइन भी खरीद सकते है | 

शिलाजीत के सेवन से होंगे शरीर को कई फायदे 

शिलाजीत का असर शरीर पर पहले दिन से ही होने लग जाता है | आइये जानते है की जब आप इसका सेवन करने लगेंगे तो इससे  आपके शरीर को क्या क्या फायदे होंगे | शिलाजीत हमारी हड्डियों को मजबूत बनाता है | इसमें कैल्शियम मैग्नेशियम निकल और स्ट्रोंटियम पाया जाता है | 

हड्डियों की कमजोरी 

जो की हड्डियों की कमजोरी को दूर करके अर्थराइटिस और आस्ट्रियोप्रोसिस जैसी बीमारियों में राहत प्रदान करता है | शिलाजीत का सेवन करने से हमारे शरीर के जख्मो को भरने की क्षमता बढ़ती है | इसमें मौजूद विटामिन बी , कॉपर और फुलविक एसिड हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता  है | जिससे बीमारिया और बुखार जैसी चीजे हमारे शरीर में आम लोगों के मुकाबले ज्यादा जल्दी ठीक होने लगती है | 

स्टेमिना 

शिलाजीत हमारे शरीर के लिए एक नेचुरल एनजाइजर है | अपनी  स्टेमिना को बढ़ाने के लिए मिलेट्री, ओलंपिक्स और स्पोर्ट्स से जुड़े लोग भी इसका इस्तेमाल करते है | इसे वर्कआउट से पहले स्ट्रेंथ के लिए और वर्कआउट के बाद रिकेवरी के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है | 

डाइबिटीज 

शिलाजीत डाइबिटीज की समस्या में भी बहुत फायदेमंद है | इसके अंदर मैग्नीशियम पाया जाता है जो की शरीर में गलूकोज की मात्रा को नियंत्रित करता है | जिससे की डाइबिटीज की समस्या में बेहद फायदा मिला है | साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल को दूर कर नसों में आयी ब्लॉकेज को भी दूर करता है | 

सेक्सुअल प्रॉब्लम 

शिलाजीत में आइरन की मात्रा अधिक होती है जिसकी वजह से शरीर में ऑक्सीजन का संचार तेजी से होता है और शरीर में ताजगी बनी रहती है | शिलाजीत का सबसे अधिक इस्तेमाल सेक्सुअल प्रोब्लेम्स में किया जाता है | इसके सेवन से शरीर में  सेक्सुअल हार्मोन्स एस्ट्रोजन, टेस्टस्टेरॉन और एंड्रोजन पर पर भी प्रभाव पड़ता है जिसके कारन  शरीर में आयी नपुसंकता, स्वप्नदोष, शिघ्नपतन और महिलाओ और पुरुषो से जुडी हर तरह की बीमारी में इसके सेवन से पूरी तरह ठीक हो जाती है | इसके अलावा अगर पढाई में दिमाग नहीं लगता हो या दिमाग अस्थिर रहता हो उसमे भी शिलाजीत के सेवन से तेजी से फायदा मिलता है | 

महिलाओं के लिए भी है फायदेमंद 

इसके अलावा महिलाओ की भी कई तरह की प्रोब्लेम्स दूर करने में शिलाजीत का सेवन बहुत ही फायदेमंद है | महिलाओ में  इनफर्टिलिटी यानि की बांझपन की समस्या को भी यह दूर करता है | और साथ ही मासिक धर्म की कई तरह की समस्याओ जैसे अनियमित पीरियड , पीरियड के समय अधिक और कम ब्लेडिंग होना , पेट में ऐठन , पीरियड के दौरान कमजोरी जैसी समस्याए भी इसके सेवन करने से दूर होती है | 

डिप्रेसन 

साथ ही जिन लोगो को डिप्रेसन की शिकायत है और हमेशा दिमाग में टेंसन रहती हो ऐसे लोगो को भी इसके सेवन से दिमाग को शांति मिलती है | शिलाजीत हमारे शरीर पर होने वाले बढ़ती  उम्र के प्रभाव को भी कम  करता है यह हमारी त्वचा को पोषण प्रदान करता है जिससे डेड स्किन झुर्रिया दूर होती है और चेहरे पर ग्लो बना रहता है | 

हम उम्मीद करते है की आज की यह जानकारी आपके जीवन में बहुत लाभकारी होगी | आगे के वीडियो में भी हम आपको ऐसी ही उपयोगी जानकारी देते रहेंगे | अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे लाइक और शेयर करें | अगर आपके कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट करें धन्यवाद | 

Leave a Comment